Radd e fitna Molvi Ashraf Jalali or Molvi Muzaffar

Khanqah e Aaliya Golra Sharif ki Wazahat..

Hum Molvi Ashraf Jalali or Molvi Muzaffar Shah ki purzor muzammat karte hai..

*समझ ले तेरी अज़मत को अगर ये अर्श का गुम्बद*
*तो झुक कर चूम ले वो तेरी तुर्बत फ़ातिमा_ज़हरा…*

*किसी का बाप भी जन्नत में दाखिल हो नही सकता*
*न दें बेटे अगर तेरे इज़ाज़त फ़ातिमा_ज़हरा….*

*सय्यदा तय्यबा ताहिरा उम्मे अबीहा ख़ातून ए जन्नत* *सय्यदुन्निसा सय्यदा फ़ातिमा ज़हरा सलामुल्ला अलैहा*
की शान में गुस्ताखी करने वाले
की मज़म्मत करता हूँ
खुदा की लानत हो मलाऊन आसिफ जलाली पर

*रसूल ए करीम صلى الله عليه وعلى آله وسل और उनकी अहलेबैत मासूम हैं और उनके लिए खता का तसव्वुर भी हराम है.!*

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s